एसएमएस/व्हाट्सएप से प्राप्त स्टॉक सलाह के आधार पर निवेश करते हैं? सावधान!

क्या आपको कभी एसएमएस या व्हाट्सएप सन्देश द्वारा स्टॉक सलाह मिली है.बहुत अधिक संभावना है की कोई मेनिप्युलेटर आपको लूटने की कोशिश कर रहा है.इन संदेशों में आमतौर पर स्टॉक में छुपे हुए अवसर की बात करते हैं जो आगे जाकर जबरदस्त रूप से बढ़ने वाला है.

सलाह देने वालों की सिफारिशें बुरी तरह से असफल हुई हैं.

stock tips

उपरोक्त टेबल उन स्टॉक्स को दिखा ता है जो उनकी सलाह की तिथि के बाद 50% से अधिक नीचे गिरे हैं.सूचि में और भी अधिक स्टॉक्स हैं.इन एसएमएस स्टॉक्स में तब गिरावट आई है जब सामान्य रूप से बाज़ार बहुत अच्छी तरह से चल रहा था.बजट के पश्चात् सुधार के बाद भी,निफ्टी और सेंसेक्स अपने जून-जुलाई 2017 के स्तर से 10-12% ऊपर व्यापार कर रहे हैं.

सलाह देने वालों की कार्य प्रणाली

सलाह ब्रोकर और ऑपरेटर के संघ की तरफ से आती है जो स्टॉक की कीमतों के हेर-फेर में सम्मिलित हैं और आमतौर पर ये छोटे निवेशकों को अपना लक्ष्य बनाते हैं.वे पहले व्यर्थ पड़े स्टॉक्स का मूल्य बढ़ाते हैं और फिर निवेशकों को उन्हें ऊँची कीमतों पर खरीदने के लिए फसाते हैं. ओपरटर संघ स्टॉक ब्रोकर और ट्रेडिंग पोर्टल से ग्राहकों की संपर्क जानकारी निकालते हैं और उन्हें एसएमएस या सोशल मीडिया के द्वारा स्टॉक सलाह देकर फसाते हैं.इन निवेशकों को ऐसे स्टॉक खरीदने के लिए उकसाया जाता है जिन्हें ऑपरेटर ऑफलोड करने वाला है.उन्हें यह विचार करवा कर बेवकूफ बनाया जाता है कि वे बहुत ही कम कीमतों पर कीमती वस्तु खरीद रहे हैं.विशेषज्ञ कहते हैं की जो निवेशक स्टॉक्स के द्वारा पैसा कमाने के बारे में गंभीर हैं उन्हें एसएमएस सलाह को अनदेखा करना चाहिए.कम दाम में मिल रही बेकार वस्तु खरीदने से अधिक दाम वाले ब्लू चिप स्टॉक में निवेश करना बेहतर होगा.

चेतावनी को देखें.

निष्पक्ष रूप से बात करें तो एक नए निवेशक के लिए स्टॉक सिफारिशें चावल से कचरा अलग करने के सामान है.यद्यपि कुछ चेतावनियाँ हैं जिन्हें आप निवेश करने के पहले देखें.

  1. एमएस से सलाह देने वाले लोग अपनी पहचान छुपाते हैं या सलाह देने के लिए नकली खातों का उपयोग करते हैं. सलाह देने वालों द्वारा आपका विश्वास जीतने के लिए सुपरिचित इक्विटी रिसर्च फर्म या ब्रोकरेज हाउस का नाम लेना सामान्य बात है.
  2. स्टॉक सलाह बहुत कम बाज़ार पूंजी वाली छोटी कंपनी के बारे में होती है.
  3. स्टॉक की कीमत बहुत कम होती है,आमतौर पर 100 रूपए से भी कम
  4. कंपनी भी बड़े आदेश, नए उत्पादों आदि की सकारात्मक घोषणाओं के साथ शामिल हो सकती है.
  5. कंपनी द्वारा विलय या टेकओवर ,बड़े आदेश या महत्वपूर्ण नीतिगत परिवर्तनों पर ताज़ा समाचारों की तलाश करें

ऊँचे रिटर्न्स के लिए सही निवेश करें.

यदि आप आधिक जोखिम लेकर ऊँचे रिटर्न्स कमाना चाहते हैं,तो इसके लिए म्युचुअल फंड सही रास्ता है.Upwardly की सलाहकार टीम ने इस कारण से ही दो पोर्टफोलियो बनाए हैं.

1.विविध इक्विटी वाला पोर्टफोलियो

इस पोर्टफोलियो में श्रेष्ठ ट्रैक रिकॉर्ड उर भविष्य की संभावनाओं के साथ चार फंड हैं.इसने पिछले 10 वर्षों में 17.9% का वार्षिक रिटर्न दिया है.इस पोर्टफोलियो 5 वर्ष पहले शुरू की गई 5000 रूपए की मासिक SIP आज 4.63 लाख के बराबर है

stock portfolio

2. स्माल और मिड कैप पोर्टफोलियो

इस पोर्टफोलियो में 3 फंड है जिन्होंने ऐतिहासिक तौर पर ऊँची अस्थिरता के साथ में ऊँचे रिटर्न दिए हैं.ये फंड छोटे अक्कर की कंपनियों में निवेश करते हैं जिनमे बहुत तेजी से बढ़ने की क्षमता होती है.इसने पिछले 10 वर्षों में 20.3% का वार्षिक रिटर्न दिया है.इस पोर्टफोलियो 5 वर्ष पहले शुरू की गई 5000 रूपए की मासिक SIP आज 4.93 लाख के बराबर है

mid cap portfolio

निष्कर्ष

तो अगली बार जब आपको किसी संदेहास्पद स्टॉक के बारे में किसी शीर्ष ब्रोकरेज हाउस से कोई एसएमएस टिप मिले तो. तो इस सालाह को गंभीरता से न लें. अस्पष्ट सलाह के आधार पर निवेश करने के बजे आप ऐसे म्युचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं जिन्हें फंड प्रबंधक द्वारा व्यावसायिक रूप से प्रबंधित किया जाता है, जिनका प्रतिदिन का काम बाज़ार पर नज़र रखना और निवेश प्रबंधित करना है. सभी म्युचुअल फंड SEBI द्वारा नियंत्रित किए जाते हैं और पूर्ण रूप से सुरक्षित और पारदर्शी हैं. संक्षेप में, ज के ज़माने के सभी म्युचुअल फंड कम कोशिशों के साथ और उच्च रिटर्न के सम्भावना के साथ निवेश के लिए सही आधार प्रदान करते हैं.

www.Upwardly.in पर श्रेष्ठ म्युचुअल फंड में अपना निवेश करना प्रारंभ करें.

You can read the article in English here.

0 Shares:
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like
Read More

एचडीएफसी प्रूडेंस फंड को एचडीएफसी बैलेंस्ड एडवांटेज फंड में परिवर्तित कर दिया गया है

भारत की सबसे बड़ी और प्रचलित म्युचुअल फंड योजना,एचडीएफसी प्रूडेंस फंड विलय करने के लिए तैयार है और…