Press enter to see results or esc to cancel.

एचडीएफसी प्रूडेंस फंड को एचडीएफसी बैलेंस्ड एडवांटेज फंड में परिवर्तित कर दिया गया है

भारत की सबसे बड़ी और प्रचलित म्युचुअल फंड योजना,एचडीएफसी प्रूडेंस फंड विलय करने के लिए तैयार है और इसे नए एचडीएफसी बैलेंस्ड एडवांटेज फंड में बदल दिया गया है,एचडीएफसी हाउस ने परिवर्तन का यह निर्णय म्युचुअल फंड वर्गीकरण पर SEBI के दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए लिया है.अन्य इक्विटी फंड अर्थात एचडीएफसी ग्रोथ फंड को भी एचडीएफसी बैलेंस्ड एडवांटेज फंड बनाने के लिए विलय किया जाना है.

HDFC प्रूडेंस फंड

एचडीएफसी प्रूडेंस फंड 31 मार्च 2018 तक 36,594 करोड़ रूपए की संपत्ति के साथ भारत की सबसे बड़ी म्युचुअल फंड योजना है.1994 से कार्यरत यह योजना भारत सबसे लम्बी चलने वाली म्युचुअल फंड योजनाओ में से एक है.फंड ने इसके लांच से 18.9% प्रति वर्ष के असाधारण रिटर्न दिए हैं. प्रशांत जैन द्वारा प्रबंधित एचडीएफसी प्रूडेंस बैलेंस्ड श्रेणी में से एक है.

एचडीएफसी प्रूडेंस के मासिक डिविडेंड योजना ने मार्च 2018 तक प्रत्येक महीने 1% का डिविडेंड दिया है.इतनी ऊँची मासिक आय के प्रलोभन ने कई निवेशकों को एचडीएफसी प्रूडेंस फंड की ओर आकर्षित किया है.

एचडीएफसी प्रूडेंस फंड को नए फंड में क्यों परिवर्तित किया गया है?

SEBI ने म्युचुअल फंड का वर्गीकरण और लेबलिंग किस प्रकार किया जाए इस पर एक परिपत्र जारी किया है.यह परिपत्र विभिन्न म्युचुअल फंड श्रेणियों को परिभाषित करता है.SEBI ने यह भी निर्देश दिए हैं कि एचडीएफसी म्युचुआल फंड जैसी कंपनी एक श्रेणी में एक ही फंड रख सकती है.एचडीएफसी प्रूडेंस फंड इक्विटी (स्टॉक ) में 65 %- 80% और शेष आवंटन डेट और नकद में होने के साथ एक बैलेंस्ड फंड है. एचडीएफसी अन्य प्रचलित संतुलित फंड योजना एचडीएफसी बैलेंस फंड भी चलाता है.

SEBIके दिशानिर्देशों को पूरा करने के लिए एचडीएफसी म्युचुअल फंड ने पूर्व बैलेंस्ड फंड श्रेणी में एचडीएफसी बैलेंस्ड फंड को जारी रखना निश्चित किया है जिसे अब हाइब्रिड अग्रेसिव फंड कहा जाता है.

नया एचडीएफसी बैलेंस्ड एडवांटेज फंड कितना अच्छा है?

नया एचडीएफसी बैलेंस्ड एडवांटेज फंड हाइब्रिड श्रेणी जैसे पूर्व बैलेंस्ड फंड या नए हाइब्रिड अग्रेसिव फंड में भी आएगा.तकनिकी अंतर यह है हालाँकि हाइब्रिड अग्रेसिव फंड का इक्विटी आवंटन सभी समय लगभग 65%-80% होता है,बीएएफ/डीडीए फंड में इक्विटी डेट का विभाजन बाज़ार की परिस्थतियों के आधार पर मजबूती से किसी भी एक तरफ जा सकता है.फंड हाउसेस का किसी भी समय इक्विटी डेट के विभाजन को तय करने का अपना अंदरूनी मानदंड होता है.इस नए फंड के लिए निफ्टी 50 हाइब्रिड कोम्पोसिट डेट 65:35 मानदंड होगा.एचडीएफसी प्रूडेंस फंड के पूर्व प्रबंधक प्रशांत जैन और राकेश व्यास नए फंड का प्रबंधन जारी रखेंगे.प्रशांत जैन ने एचडीएफसी प्रुडेंस को 24 वर्षीं से प्रबंधित किया है और बढ़ाया है.वे भारत के सबसे सम्माननीय फंड प्रबंधकों में से एक हैं,इस फंड में एचडीएफसी प्रूडेंस फंड से कोई वास्तविक बदलाव नहीं होगा.

क्या मुझे एचडीएफसी प्रूडेंस फंड में निवेशित रहना चाहिए?

अब हम एक बड़े प्रश्न पर आते हैं! आपको एचडीएफसी प्रूडेंस फंड में निवेशित रहना चाहिए या अपना निवेश बेच देना चाहिए.यद्यपि फंड की श्रेणी बदल गई है,हम उम्मीद करते हैं कि नया फंड एचडीएफसी प्रूडेंस फंड की निवेश रणनीति के साथ जारी रहेगा.

नए डिविडेंड वितरण टैक्स के कारण एचडीएफसी प्रूडेंस की 1% मासिक आय में अप्रेल में 11.65% की कटौती हुई है. नए एचडीएफसी बीएएफ फण्ड से मासिक डिविडेंड 0.88% प्रति माह के आस पास जारी रहना चाहिए.यदि आप एचडीएफसी प्रूडेंस डिविडेंड योजना से मासिक आय उत्पन्न कर रहे हैं तो,आपको ग्रोथ योजना और एसडब्ल्यूपी श्रेणी में स्विच कर लेना चाहिए.डीडीटी टैक्स की शुरुआत के साथ, एसडब्ल्यूपी रणनीति आपको डिविडेंड योजनाओं की अपेक्षा अधिक मासिक आय दे सकती है.विस्तृत विवरण के लिए मासिक आय के लिए एसडब्ल्यूपी बनाम डिविडेंड पर हमारे पिछले लेख का सन्दर्भ लें.

हम वर्मान निवेशकों को एचडीएफसी प्रूडेंस फंड में निवेशित रहने की सलाह देते हैं क्योंकि हम पहले की ही तरह रिटर्न की अपेक्षा रखते हैं.मासिक आय के लिए निवेशक एसडब्ल्यूपि रणनीति से डिविडेंड योजना में स्विच करने के बारे में विचार कर सकते हैं.निवेशक जो असली डायनामिक संपत्ति आवंटन फंड में निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं आईसीआईसीआई प्रुडेंशियल बैलेंस्ड एडवांटेज फंड या मोतीलाल ओसवाल डायनामिक फंड के बारे विचार कर सकते हैं.

क्या मै एचडीएफसी प्रूडेंस फंड से एग्जिट लोड के बिना रीडिम कर सकता हूँ?

नए फंड में बदलाव 1 जून 2018 से प्रभावी होगा. एचडीएफसी ने मौजूदा निवेशकों को 3 मई 2018 से 1 जून 2018 के बीच बाहर निकलने का विकल्प दिया है। 3 मई से 31 मई 2018 तक एचडीएफसी प्रूडेंस में अपने निवेश को रिडीम करने वाले निवेशकों को कोई एक्जिट लोड नहीं लगेगा.

आपके वर्तमान म्युचुअल फंड पोर्टफोलियो के मूल्यांकन के लिए और निवश पर विशेषज्ञों की सलाह के लिए, अपवार्डली से संपर्क करें. आप हमें +91 73377 40002 या hello@upwardly.in पर संपर्क कर सकते हैं

You can read this artcile in English here.

Please follow and like us:
0